मैसूर – घूमने का सबसे अच्छा समय

मैसूर

मैसूर शहर शीर्ष पर्यटन स्थलों मे से एक है, जो कर्नाटक राज्य में स्थित है। यह शहर अपने स्वर्णिम युग 1399 से 1947 तक मैसूर साम्राज्य का हिस्सा था। मैसूर का इतिहास और संस्कृति समृद्ध रहे है। मैसूर शहर का आकर्षण इसके महल, मकबरे, झील और सुन्दर बगीचे हैं। मैसूर शहर की भव्यता लाखों पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है। यहाँ के भोजनालयो मे स्वादिष्ट दक्षिण भारतीय खाने का मजा ले सकते है। पर्यटकों की ज़रूरत के हिसाब से यहाँ योग और कल्याण केंद्र भी हैं। पर्यटको को मैसूर अच्छे से घूमने के लिए तीन से चार दिन का समय लेना चाहिए।  

मैसूर मे वोडेयार शासकों का शासन 1399 से 1947 तक रहा था। 18वीं शताब्दी के अंत में टीपू सुल्तान ने यहाँ पर शासन किया था। शासक टीपू सुल्तान की मृत्यु के बाद अंग्रेजों का शासन हो गया था। आधुनिक समय के बावजूद शहर अपने अतीत को सजाये हुए है। 

मैसूर मे घूमने की प्रमुख स्थल

  • मैसूर महल
  • टीपू सुल्तान समर पैलेस या दरिया दौलत बाग
  • वृंदावन गार्डन
  • श्री चामराजेंद्र प्राणी उद्यान
  • चेन्नाकेशव मंदिर
  • चामुंडेश्वरी मंदिर
  • जगनमोहन पैलेस
  • बोनसाई गार्डन
  • रेल संग्रहालय
  • करंजी झील
  • सेंट फिलोमेना कैथेड्रल
  • रंगनाथिट्टू पक्षी अभ्यारण्य
  • एडमुरी फॉल्स
  • कृष्णा राजा सागर दामो
  • गुंबज-ए-शाही

ये शहर की कुछ मुख्य जगह है, जहाँ देशी और विदेशी पर्यटक घूमने जाते है।

सम्बंधित पोस्ट :- भारतीय सभ्यता और संस्कृति का इतिहास – History of Indian Civilization and Culture

मैसूर का प्रसिद्ध भोजन

यहाँ का भोजन पारम्परिक दक्षिण भारतीय व्यंजनों से निर्मित होता है। मुख्य व्यंजनों मे डोसा, वड़ा, सांभर, इडली, उपमा, रसम और मैसूर पाक है। ये सभी व्यंजन यहाँ  की विशेषता है।

मैसूर का बाजार

मैसूर का प्रमुख आकर्षण यहाँ की सिल्क साड़ियां है जो अपने विशेष रंग, पेटेंट और डिजाइनों में यहाँ प्रसिद्ध हैं। कांजीवरम के नाम की साड़ियों पर जरी (सोने या चांदी का धागा) के काम को विशेष रूप से पसंद किया जाता है। मैसूर सिल्क साड़ियों के मूल्य का निर्धारण जरी धागे से की गई कारीगरी द्वारा होता है। 

मैसूर में सोने के आभूषण बहुत सुन्दर और जटिल होते हैं।  देसी और विदेशी पर्यटक चंदन साबुन, अगरबत्ती और लकड़ी की मूर्तियो को साथ ले जाना पसंद करते हैं। मंदिर के देवी-देवताओं और उनके आभुषणों की कला मनमोहक है।

मैसूर घूमने के लिए सबसे अच्छा समय

मैसूर घूमने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से फरवरी के बीच का होता है। मैसूर मे इस समय मौसम घूमने के सही होता है। क्यों की तापमान कम भी है और पर्यटक भी जयादा आते है।

मैसूर कैसे पहुंचे

फ्लाइट से कैसे पहुंचे

मैसूर का हवाई अड्डा बैंगलोर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है। जो घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों से जुड़ा हुआ है। आपको भारत मे कही से भी बैंगलोर हवाई अड्डे के लिए फ्लाइट मिल जाएगी। फिर आप को 3 घण्टे की सड़क यात्रा करके यहाँ आना होगा।

ट्रेन से कैसे पहुंचे

मैसूर शहर मे एक रेलवे स्टेशन है। ज्यादातर पर्यटक ट्रेन से यहाँ की यात्रा करना पसंद करते हैं। क्योंकि रेल से सफर करना बजट अनुकूल और आरामदायक है। चेन्नई और बैंगलोर जैसे रेलवे स्टेशनों से आप यहाँ पहुँच सकते हैं।

सड़क मार्ग से कैसे पहुंचे

बैंगलोर से मैसूर शहर की दुरी 140 KM है। जो की 3 घंटे की दूरी पर है। पर्यटक चेन्नई से हाईवे NH48 के रास्ते से भी यहाँ पहुंच सकते हैं। कोचीन से यहाँ आने के लिए आप NH544 राजमार्ग का उपयोग कर सकते हैं।